दवा खाने का सही समय(Time table of medicine)

नमस्कार दोस्तों
    आप सभी कभी न कभी डाक्टर के पास गये ही हैं,  तब आपने यह देखा होगा कि आपके डॉक्टर आपको कुछ ऐसी दवाएँ देते हैं जो कि एक निश्चित समय 🕒 पर खाने के लिए कही जाती हैं कि ये दवा 💊 आपको सुबह नाश्ते के समय खानी है ये दवा आपको दोपहर 🕛 में और ये रात 🌃 को सोते समय खानी हैं।
   तो जो आपके डॉक्टर हैं वह आपको जोर देकर ऐसा करने क्यों बोलते हैं?
  क्योंकि आपके शरीर में एक ऐसी ग्रंथि (gland) होती है जो कि आपके शरीर की 24 घंटे की सारी जानकारी रखती है, सारे schedule को नियंत्रित (control)  करती है।

जैसे सोने का सही समय क्या है?
उठने का सही समय क्या है?
कब आपको नाश्ते की जरूरत है?
कब आपको भोजन (lunch)या ,रात्रिभोज (dinner) करना है?
इसके आलावा और भी चीजें जो आप रोजाना करते हैं वो सभी पीनियल ग्रंथि(pineal gland)के द्वारा नियंत्रित की जाती है जोकि अपके मस्तिष्क (brain) में होती है,जिसे हमारे शरीर की biological clock 🕒 भी कहा जाता है, और इसे ही मनुष्य की तीसरी आँख कहा जाता है। 

तो ये जो आपकी बायलॉजिकल घड़ी है वह हमारे शरीर के तापमान(body temperature) को भी कंट्रोल करती है जैसे रात के समय कम दिन के समय ज्यादा,  और ग्लूकोज दिन के समय ज्यादा रात में कम,अलग अलग हार्मोन की रक्त(blood) में अलग अलग समय में  मात्रा। इन सभी छोटी बड़ी चीजों को हमारी पीनियल ग्रंथि (biological clock) नियंत्रित (control) करती है, 

     इसी हिसाब से दवाएँ जो दिन के समय या रात में खायी जाती हैं उनके chemical का हमारे शरीर में सबसे अच्छा प्रभाव 24 घंटे में से किस समय होगा इसका अध्ययन करने के बाद ही आपके डॉक्टर आपको बताते हैं कि दवा रात में खानी है या दिन में।

ठीक वैसे ही जैसे कि आपको घर में कहा जाता कि दही दिन में खाना चाहिए रात में नहीं ,  सर्दी हो जायेगी। क्योंकि रात के समय हमारे शरीर का तापमान भी कम होता है और दही को पचाने वाले chemical भी रात के समय कम सक्रिय (active) होते हैं। और ये सब कुछ आपकी बायलॉजिकल घड़ी के द्वारा नियंत्रित होता है।

-धन्यवाद-
।।जय हिंद जय भारत।। 
Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *