कैंसर के प्रकार, लक्षण, रोकथाम (cancer in hindi)

हमारा शरीर जितना complicated है, उतनी ही complicated शरीर में होने वाली बीमारियाँ हैं। आज हम कैंसर के प्रकार की बात करते हैं। कैंसर से जुड़ी अन्य जानकारी के बारे में details में जानने की कोशिश करते है।

कैंसर cell और normal cell में Difference

Normal cell की एक speciality होती है कि वह एक limited & controlled growth करती है। मतलब की कोई भी normal cell अपने size और numbers को केवल उतना ही बढाती है जितनी उसे जरूरत हो।

Cell की controlled और limited growth करने का गुण contact inhibitions कहलाता है। जो कि normal cell में present होता है, और CANCER cell में absent.

cancer cell के साथ ऐसा नहीं होता। कैंसर cell लगातार बढ़ते रहती है और अपनी संख्या बढाते रहती है। कैंसर cell को लगातार growth करने के लिए ज्यादा nutrition की जरूरत होती है। जिसके कारण वह अपने आसपास की दूसरी cells का nutrition भी खुद लेने लगती हैं, जिससे दूसरी cell की nutrition की कमी से मर जाती हैं।

दूसरी normal Cells से Nutrition और blood के लिए competition करने वालीं ये Cells NEOPLASTIC cells कहलाती हैं।

Tumour क्या है?

कैंसर के प्रकार की जब हम बात करते हैं, तो देखते हैं कि CANCER की शुरुआत mainly tumour से होती है। tumour, Cells का bunch होता है, यानि कोशिकाओं का समूह। Tumour को Cell mass भी कहा जाता है। Tumour दो प्रकार के होते हैं।

  • Benign
  • Malignant

कैंसर के प्रकार- Type of cancer

  • Benign tumour– इसमें cell एक ही place में growth करती हैं, यह कम खतरनाक होता है। इसका आसानी से इलाज किया जा सकता है।
  • Malignant tumour– cancer cell, growth करने के बाद body के दूसरे parts में फैल जाती हैं। Malignant tumour को ज्यादा खतरनाक समझा जाता है।

अंगों के आधार पर कैंसर के नाम

(Name of cancer by origin body part)

Body के different parts में होने वाले cancer के नाम भी अलग-अलग होते हैं। कुछ important cancer के बारे में हम यहाँ जानेंगे।

  • SARCOMA – connective tissue
  • LYMPHOMA– lymphatic tissue
  • CARCINOMA– epithelial tissue
  • LEUKAEMIA– blood cancer

कैंसर का कारण (Cause of cancer)

हम यहां तीन main categories में कारणों को जानेंगे।

Physical – (ionised) X-rays, gamma-rays, (Non-ionised)- uv-rays.
कैंसर लगातार X-rays, gamma-rays, uv-rays के संपर्क में आने से हो सकता।

Chemical – tobacco, alcohol का लंबे समय तक प्रयोग करने से CANCER होने की संभावना बढ़ जाती है।

Biological– oncogenic virus/ viral oncogenes. कुछ virus जो कि कैंसर की बीमारी का कारण होते हैं oncogenic virus Cellular oncogenes कहलाते  हैं। कुछ ऐसी Cell भी होती हैं जिनके genes में कैंसर पैदा करने क्षमता होती है, Cellular oncogenes को कैंसर का अनुवांशिक(genetic) कारण भी कहा जाता है।

कैंसर का पता लगाना- Detection and diagnosis

Cancer diagnosis के लिए 4 method use की जाती हैं। जिनके नाम हैं-Biopsy, Histopathology, MRI, CT-scan.

  1.   Biopsy के द्वारा cancer का पता लगाना –
    Biopsy में उस body part/tissue की cell ली जाती हैं, जहाँ cancer के symptoms दिखाई देते हैं। फिर Cells की पतली परत (thin layer) को रंगा (dye)जाता है। उसके बाद microscope की मदद से ध्यान से observ किया जाता है।
  2. Histopathology के द्वारा cancer का पता लगाना – इस method में pathology के द्वारा cancer का पता लगाया जाता है। जैसे blood test, bone marrow test, Urine test etc.
  3. MRI के द्वारा cancer का पता लगाना – CANCER का पता लगाने के लिये MRI(magnetic resonance imaging) machine के द्वारा चुम्बकीय क्षेत्र (magnetic field) बनाकर cells की image तैयार की जाती है। फिर cancer का पता लगाया जाता है।
  4. CT-scan के द्वारा cancer का पता लगाना- CT-scan (Computed tomography) के द्वारा भी cancer का पता लगाया जाता है। CT-scan भी magnetic resonance के आधार पर काम करती है।

कैंसर का इलाज

(Cancer treatment)

  1. radiotherapy -कैंसर के उपचार के लिए रेडियोथेरेपी दी जाती है, रेडियोथेरेपी में radioactive elements जैसे IODINE(I¹³¹), cobalt (CO) जैसे elements का उपयोग कर उपचार किया जाता है।
  2. कीमोथेरेपी – cancer के इलाज के लिए कीमोथेरेपी में drugs और chemicals का उपयोग किया जाता है।

कैंसर से बचने के तरीके

  1. कैंसर का सबसे बड़ा कारण निकोटिन है,जो की तंबाकू में पाया जाता है।
  2. जो लोग लम्बे समय तक अल्कोहल लेते हैं उनमे भी कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।
Share

2 thoughts on “कैंसर के प्रकार, लक्षण, रोकथाम (cancer in hindi)”

  1. कैंसर बहुत ही खतरनाक बीमारी होती है और आप ने जो कैंसर के बारे में जो जानकारी दी है।यह हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसप्रकार की जानकारी देने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *