मच्छर और बीमारियां (Mosquito and Disease)

नमस्कार दोस्तों,
     हम रोजाना अपने आसपास बहुत सी चीजों को देखते हैं, बहुत लोगों से मिलते हैं, इंसानों के अलावा बहुत सारे जीव जंतुओं से भी मिलते हैं। जिनमें से एक महत्वपूर्ण जीव है मच्छर।मच्छर बहुत ही सामान्य जीव है जिससे कि हम रोजाना मिलते हैं, खासकर भारत में। भारत में शायद ही कोई ऐसी जगह या व्यक्ति हो जो कि मच्छरों से प्रभावित न हो।  
     मच्छर विश्व के लगभग हर कोनों में पाए जाते हैं और काफी सारी बीमारियों को फैलाने का काम करते हैं। मच्छर बीमारियों को पैदा नहीं करते वे केवल बीमारियों को फैलाने का काम करते हैं। इसलिए मच्छरों को vector कहा जाता है। 

      कुछ प्रमुख मच्छर और बीमारियां 
 Disease             cause              Mosquito 
1. Malaria           Plasmodium     Anopheles
2. Zika                 Zika Virus            Aedes 
3. Dengue            Dengue virus      Aedes  
4. Yellow fever      virus                    Aedes 
5. Chikungunya    virus (CHIKV)     Aedes


      एक और जरूरी बात जो जानने वाली है कि जिस किसी भी Virus को arthropoda के द्वारा फैलाया जाता है उस Virus को Arbovirus कहा जाता है। Arthropoda में सभी छोटे- बडे कीड़े आते हैं जैसे मच्छर, मक्खी, कॉकरोच आदि।

मच्छर से जुड़े कुछ वैज्ञानिक तथ्य

 
 • केवल मादा (Female) मच्छर ही मनुष्यों और जानवरों को काटती है। 
 • Female Mosquito को प्रजनन के लिये अधिक पोषण की आवश्यकता होती है इसलिए वह हमारा खून चूसती हैं। 
• Male Mosquito अपना भोजन पेड पौधों और फूलों से प्राप्त करते हैं  
• हर साल 20 अगस्त को विश्व मच्छर दिवस (world Mosquito day)मनाया जाता है।

     मच्छर पानी के गड्ढे और टंकियों में अपने लार्वा को जन्म देते हैं, हमें इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि पानी की टंकियों और घर के आसपास सफाई रखी जाये और बीमारियों से बचा जाए। 

     मच्छरों को मारने के लिये D.D.T. और B.H.C. का उपयोग किया जाता है। साथ ही Gambusia नाम की मछली का भी उपयोग मच्छरों को नियंत्रित करने में किया जाता है। Gambusia मछली मच्छरों के लार्वा( बच्चे) को खाती है जिससे मछली को भी खाना मिल जाता है और हमें मच्छरों से छुटकारा । Gambusia मछली मलेेरिया की प्रराकृतिक नियंत्रक मानी जाती है। 
और जानें –
विश्व एड्स दिवस (World AIDS day)

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *