मुंहासे(acne and pimples in hindi)

नमस्कार दोस्तों,
हमारा आज का topic है acne and pimples in hindi”. 

Pimples को हम Acne (मुंहासे) और Blister (छाला) जैसे common  नामों से जानते हैं। लेकिन simple होने के बाद भी यह काफी बुरा, painic और कई बार शर्मिंदा करने वाली समस्या है।

ये कोई बीमारी नही है, ये किसी को भी, किसी भी उम्र में और किसी भी body part में हो सकता है।

हालांकि युवा पीढ़ी (teen age) में ये problem ज्यादा common है। कोई एक particular कारण ना होने के बाद भी ये उन लोगों में definitely देखे जाते हैं जो mostly spicy, मिर्च, oil, और खटाई  वाले food daily खाते हैं।

इसके अलावा Fast food जैसे pizza, burger, finger chips  हमारी lifestyle का एक बडा part बन चुका है। जो कि pimple के लिए responsible है।

Teen age  में जब हमारे body में हॅार्मोन में change  होता हैं, तब शरीर में उस change के against कई बार negative changes जो कि Pimple के रुप में देखे जाते हैं।

हम सभी की body हर बीमारी या body में होने वाले change का response बिल्कुल ही अलग तरीके से देती हैं। जरूरी नहीं है कि Hormones के change से सभी को pimple की समस्या हो।


Pimples definition

“a small hard inflamed spot on the skin”.


Pimples कारण

1.body की surface यानी कि Skin पर small pores होते हैं जो कि body के बहुत से Excretory elements को  बाहर निकालने का काम करते हैं। ये पसीन sweat , मरी हुई कोशिका dead Cells या oil के form में हो सकती है। उपरी त्वचा जिसे हम epidermis भी कहते हैं,उसके नीचे continuously ये काम किया जाता है और नयी cells का formation होता रहता है।किन्हीं कारणों से यदि यह process रूक जाती है और  साथ ही Hormones की  irregularity एक ही समय में हों तो Pimples की problem होती है।

2.Pimples होने के बाद problem बढ़ने लगती है जैसे epidermis के नीचे पाई जाने वाली oil glands bacteria के Infection से pus (मवाद) बनने लगता है।(Pus जो कि Red or yellowish color का semi liquid होता है और Pus का निकलना बहुत painful होता है।)

3.Pimple होने के कारण कई बार अनुवांशिकी (genetic) भी होते हैं। माता-पिता को ऐसी समस्या हुई हो तो संभावना है कि बच्चों को भी सामना करना पड़ सकता है।

4.तेज धूप, धूल, मिट्टी और आजकल के Polluted environment के contact में सीधे ही शरीर का आना भी एक महत्वपूर्ण कारक है। ऐसी condition में बचाव करना ही अच्छा उपाय(Treatment) है।

5.एक बहुत ही सटिक और मुख्य कारण पेट (stomach ) का  सही तरीके से काम नहीं किया जाना, सरल शब्दों में पेट साफ नही होना (constipation)। बहुत ही common reason है Pimples का। जो कि teen के आजकल के बहुत ही गलत खान पान के कारण होने वाली गंभीर problem है।

6.Hormonal changes होने के साथ उनका imbalance होना भी, pimples का कारण है। जो कि पूरी तरह से खान पान के बाद हमारे दिनचर्या द्वारा प्रभावित होता है। रात में देर तक जागना सामान्य बात है आजकल युवाओं में। ये sex hormones होते हैं जिनका प्रभाव स्पष्ट रूप से pimples के रूप में देखा गया है।

7.कई बार कुछ Medicine के negative side effectsके कारण भी Pimple की समस्या हो सकती है।

8.सौंदर्य प्रसाधन जिनकी आजकल होड़ सी लगी है, बार बार इनमें बदलाव, और खराब quality के products उपयोग किये जाने पर भी मुंहासे होने लगते हैं।

9.तनाव आजकल इतनी आम सी बात है कि हम इसके साथ जीना सीख गये हैं, बजाय इसे दूर करने के। तनाव के बाद धूम्रपान और शराब का सेवन करना भी शामिल है जो कि pimples का कारण है।


Pimples-प्रकार(types)

  1. Whiteheads..
  2. Blackheads..
  3. Papules..
  4. Pustules..
  5. Nodules.
  6. Cysts..

Pimples-treatment

1.Topical treatment (सामायिक उपचार) : इसमें कुछ type के Medicine का use किया जाता है। जो मुख्यतः तरल liquid रूप में होता है। Cream और gel किसी भी type का हो सकता है।

2.Antibiotics (एंटीबायोटिक्स) : ये Treatment से bacteria के Infection को रोकने के लिए किया जाता है। जिनके कारण मवाद(Pus) होता है।

3.Mild acid :-Salicylic acid भी बैक्टीरिया को मारने ने के लिए बहुत लाभदायक है।

4.Hormones :- हॅार्मोन अनियमितता (irregularity) को सामान्य करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

5.Steroids :- इसका प्रयोग मुंहासों के द्वारा होने वाले swelling को कम करने के लिए किया जाता है।

6.Surgery : बहुत ही कम use किया जाने वाला Treatment है यह जिसके द्वारा pimple के दाग(spot) हटाए जाते हैं।


Pimples- देखभाल

1.skin की साफ सफाई पर ध्यान दें। चेहरे के contact में आने वाले कपड़ों (handkerchief) को भी साफ रखें।

2.तेज धूप, धूल मिट्टी, Polluted environment में चेहरे को cover करके ही जाएं।

3.शरीर को प्रभावित न करे ऐसे cosmetics का use करें। possible हो तो आयुर्वेदिक product या फिर natural products हीँ use करें।

4.पानी खूब पियें ।

5.मसालेदार भोजन(spicy food) को ignore करें।

6.हरी सब्जियों (green vegetables) और फलों (fruits)को regular diet में शामिल करें।

7.कब्ज ना होने दें।

8.Pimple से  infected जगह को बार touch न करें।

9.Pimple को हल्के गर्म पानी से साफ़ करें।

10.समस्या गंभीर होने पर Skin के doctor (dermatologist) की help लें।

Share

2 thoughts on “मुंहासे(acne and pimples in hindi)”

    1. Dekho yash, jis age me aap ho us age me pimple ek normal cheej hai. lagbhag 99% logon ko hoti h.after aging it will be gone automatically .ye ekdum natural h.
      lekin kuch tips & tricks se inko kam kiya ja sakta h.
      1- drink a lot of water.
      2- never touch pimpels. never means never.
      3- clean face 3 times with at morning , evening and at night with facewash.
      4- dont use soap use only facewash.
      5- avoid junk food.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *